Corona के खिलाफ जंग में मिला नया हथियार, भारत में बनेगा ऑटोमेटेड वेंटिलेटर, विप्रो 3डी के साथ करार

0
412 views

इमरजेंसी की सूरत में मददगार एक वेंटिलेटर सिस्टम तैयार करने का रास्ता साफ हो गया है। देश के जाने माने इंस्टीट्यूट  श्री चित्र तिरुनल चिकित्सा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संस्थान (SCTIMST) का विप्रो 3डी, बेंगलुरु के साथ एक करार हुआ है। इसके तहत आर्टिफिशियल मैनुअल ब्रीदिंग यूनिट (एएमबीयू) पर आधारित एक आपातकालीन वेंटिलेटर सिस्टम के प्रोटाटाइप का निर्माण किया जाएगा।

इमरजेंसी की स्थिति में ये वेंटिलेटर covid-19 से संबंधित खतरे से निबटने में मदद करेगा। इस उपकरण का नाम है एएमबीयू बैग या एक बैग-वाल्व-मास्क (बीवीएम) यानी एक हाथ में रखा जाने वाला उपकरण। इसका उपयोग ऐसे रोगी के लिए होता है जो जो या तो सांस नहीं ले रहा है, या बहुत मुश्किल से सांस ले रहा हो। पॉजिटिव  प्रेशर वेंटिलेशन से मरीज की सांस को लौटाया जा सकता है।
एक नियमित एएमबीयू के उपयोग को चलाने के लिए एक बाईस्टैंडर की आवश्यकता होती है जो काफी संवेदनशील होती है और कोविड 19 के मरीज के घनिष्ठ संपर्क में रहने के लिए ये उपयुक्त नहीं है ऑटोमेटेड वेंटिलेटर इस परेशानी को दूर कर देता है। क्लिनिकल फैकल्टी से इनपुट के साथ श्री चित्र का आटोमेटेड एएमबीयू वेंटिलेटर उन गंभीर रोगियों के श्वसन में सहायता करेगा, जिनके पास आईसीयू वेंटिलेटर की सुविधा नहीं है।

इस वेंटिलेटर के उपकरण ऐसे बनाएं गए हैं जिससे इनका उत्पादन जल्दी से जल्दी किया जा सके। जरुरतमंदों को वेंटिलेशन की सुविधा प्रदान करने में ये एक वरदान साबित हो सकता है।

एससीटीआईएमएसटी की निदेशक डॉ. आशा किशोर के मुताबिक, ‘ इस प्रौद्योगिकी का विकास एक सप्ताह में किया गया। दुनिया भर में लाखों लोग कोविड-19 से पीड़ित हैं और यह बेहद तेज गति से बढ़ रही है। ऐसी आपातकालीन स्थिति में एक आसान आर्टिफिशियल मैनुअल ब्रीदिंग यूनिट (एएमबीयू) बहुत सहायक साबित होगी। एससीटीआईएमएसटी की आवश्यकता आधारित मेडिकल उपकरण का निर्माण और कमर्शियलाइज करने की लंबी परंपरा रही है। अब इस बार भी सफल हुए है।’

उन्होंने कहा, ‘ विप्रो 3डी ने श्री चित्र द्वारा आमंत्रित अभिव्यक्ति पत्र (ईओआई) को रिस्पांड किया। हमने टेक्निकल टीमों के साथ विस्तृत चर्चा की और प्रोटोटाइप का आकलन किया। हम जल्द से जल्द क्लिनिकल ट्रायल करना चाहते हैं।

The short URL of the present article is: https://www.sachjano.com/iuYxm